• thephytologist@gmail.com
  • India

Benefits and Harmful Effects of Chemical Pesticides in Agriculture

Pesticides शब्द के अंतर्गत रसायन की एक विस्तृत श्रृंखला शामिल है जैसे; कीटनाशकों (insecticides), कवकनाशी (fungicides), शाकनाशी (herbicides), कृंतकनाशकों (rodenticides), मोलस्कसाइड्स (molluscicides), नेमाटिकाइड्स (nematicides), पौध विकास नियामक (plant growth regulators) इत्यादि. समय के साथ-साथ इन रसायनों में कई बदलाव देखे तथा कुछ नये का प्रादुर्भाव भी हुआ जैसे सन् 1960 के दशक में ऑर्गनोफॉस्फेट (ओपी),  1970 के दशक में कार्बामेट्स […]

Organic Farming: An environmental issue towards a healthy world

Organic farming एक ऐसी तकनीक है, जिसमें प्राकृतिक तरीको का उपयोग करके पौधों की खेती और जानवरों को पालना शामिल है. इस प्रक्रिया में जैविक पदार्थों का उपयोग शामिल होता है, मिट्टी की उर्वरता और पारिस्थितिक संतुलन को बनाए रखने के लिए सिंथेटिक पदार्थों की उपयोग की अनुशंसा नही की जाती है जिससे प्रदूषण और अपव्यय को कम किया जाता […]

GI Tag: Important for food and agricultural products

GI Tag [ज्योग्राफिकल इंडिकेशन टैग] जिसे हिंदी में भौगोलिक संकेत कहा जाता है दरअसल एक संकेत होता है जो उन उत्पादों के लिए उपयोग किया जाता है, जिसकी एक विशिष्ट भौगोलिक पहचान होती है. ऐसे उत्पादों की उत्पत्ति उस स्थान विशेष में ही होती है या मूल रूप से एक विशिष्ट भौगोलिक क्षेत्र में ही पाई जाती है. इनके मूल […]

Deforestation: Current status, Causes and Effects

Deforestation [वनों की कटाई] का तात्पर्य वनों से पेड़ों को स्थायी रूप से हटा देना है. Deforestation का उद्देश्य कृषि, चराई के लिए भूमि को साफ करना, ईंधन, अधोसंरचना निर्माण या निर्माण के लिए आवश्यक लकड़ी की जरुरत आदि शामिल हो सकती है. वर्ल्ड वाइल्डलाइफ फंड के अनुसार, पृथ्वी की कुल भूमि में से 30% से अधिक भूमि वनों से […]

Environmental Protection Agency (EPA) Ki Bhumika

EPA (पर्यावरण संरक्षण एजेंसी) संयुक्त राज्य अमेरिका की संघीय सरकार की एक स्वतंत्र कार्यकारी एजेंसी है, जो पर्यावरण संरक्षण के मामलों में काम करती है. पर्यावरण सुरक्षा एजेंसी की आवश्यकता क्यों? | Need of EPA सन् 1960 के दशक से ही अमेरिकी पर्यावरण की रक्षा के बारे में चिंतन करने लगे थे. इसी के मद्देनजर राहेल कार्सन ने सन् 1962 […]

IUCN Red List: Physical Status of Species

IUCN Red List [रेड लिस्ट ऑफ थ्रेटड स्पीशीज़], इंटरनेशनल यूनियन फॉर कंजर्वेशन ऑफ नेचर [IUCN] के द्वारा सूचीबद्ध किया का विश्व की सबसे व्यापक सूचना स्रोतों में से एक है, जो कि पशुओं, कवकों और पौधों की प्रजातियों के वैश्विक स्तर पर विलुप्त होने की स्थिति की सटीक जानकारी देती है. इंटरनेशनल यूनियन फॉर कंजर्वेशन ऑफ नेचर [International Union for […]