• thephytologist@gmail.com
  • India
Home
Relax! You are entering in watermelon season

Relax! You are entering in watermelon season

तरबूज [watermelon] एक मीठा, कम कैलोरी वाला ग्रीष्मकालीन फल है. प्राकृतिक रूप से यह फाइबर, जल, विटामिन, खनिज और एंटीऑक्सिडेंट सहित कई  आवश्यक पोषक तत्व भी प्रदान करता है.

तरबूज Cucurbitaceae परिवार का सदस्य हैं. सामान्यतया इसके पांच प्रकार पाए जाते हैं: बीज युक्त, बीज रहित, मिनी, पीला और नारंगी.

इस लेख में, तरबूज के संभावित स्वास्थ्य लाभों और पोषण संबंधी सामग्री के साथ ही साथ इसके हानिकारक प्रभाव के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई है.

तरबूज के फ़ायदे | Benefits of Watermelon

लगभग 90% पानी से भरपूर यह  गर्मियों में हाइड्रेटेड रहने में मदद करता है. यह अपने प्राकृतिक शर्करा और विशिष्ट स्वाद के कारण सभी को संतुष्ट करता है.

इसमें एंटीऑक्सीडेंट तत्व भी मौजूद होते हैं. ये तत्व शरीर से मुक्त कणों, या प्रतिक्रियाशील प्रजातियों के रूप में जाने वाले अणुओं को हटाने में मदद करता हैं.

चयापचय जैसे प्राकृतिक प्रक्रियाओं के दौरान शरीर मुक्त कण पैदा करता है. यदि शरीर में बहुत अधिक मुक्त कण बनने लगते हैं, तो ऑक्सीडेटिव तनाव हो सकता है.

इससे कोशिका की क्षति होती है जो कैंसर और हृदय रोग जैसी कई समस्याओं का कारण बनती हैं.

हमारा शरीर स्वाभाविक रूप से कुछ मुक्त कणों को हटाने में सक्षम होता है किन्तु हमारे द्वारा लिए गए आहार से एंटीऑक्सिडेंट इस प्रक्रिया का समर्थन प्राप्त होता है.

Watermelon में एंटीऑक्सिडेंट और अन्य पोषक तत्वों की व्याख्या नीचे दिए गए हैं जो हमारे स्वास्थ्य की रक्षा करने में मदद कर सकते हैं.

1. अस्थमा की रोकथाम | Watermelon used to prevents asthma

कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि शरीर में बनने वाले मुक्त कण अस्थमा के विकास में योगदान करते हैं. फेफड़ों में विटामिन सी सहित कुछ एंटीऑक्सीडेंट की उपस्थिति अस्थमा होने के जोखिम को कम कर सकती है.

अध्ययनों ने पुष्टि नहीं की है कि विटामिन सी की खुराक लेने से अस्थमा को रोकने में मदद मिल सकती है, लगभग 150 ग्राम तरबूज से 12.5 मिलीग्राम विटामिन C, या किसी व्यक्ति की दैनिक जरूरतों के 14 से 16 प्रतिशत के बीच प्रदान करता हैं.

2. रक्त चाप को संतुलित करे | Watermelon maintain blood pressure

सन् 2012 में हुए एक अध्ययन में, शोधकर्ताओं ने पाया कि तरबूज का अर्क मोटापे और शुरुआती उच्च रक्तचाप वाले मध्यम आयु वर्ग के लोगों में रक्तचाप को कम करता है. शोधकर्ताओं ने यह भी सुझाव दिया कि L-citrulline और L-arginine नामक दो एंटीऑक्सिडेंट तत्व धमनियों के कार्य में सुधार कर सकते हैं.

इसके अलावा लाइकोपीन एक और एंटीऑक्सीडेंट तत्व है जो हृदय रोग से बचाने में मदद करता है. सन् 2017 की एक समीक्षा में सुझाया गया कि यह उच्च घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (HDL) या “Good” कोलेस्ट्रॉल से जुड़ी सूजन को कम करने में कारगर होता है.

फाइटोस्टेरॉल पौधे में मौजूद यौगिक हैं जो कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (LDL) या “Bad” कोलेस्ट्रॉल को प्रबंधित करने में मदद करता है. उचित दिशानिर्देशानुसार प्रतिदिन 2 ग्राम फाइटोस्टेरॉल का सेवन करने की सलाह दी जाती है.

LDL कोलेस्ट्रॉल को कम करने से उच्च रक्तचाप और हृदय रोग (CVD) को रोकने में मदद मिल सकती है, लेकिन CVD पर फाइटोस्टेरॉल का सटीक प्रभाव स्पष्ट नहीं है और यह एक शोध का विषय है.

Watermelon

3. पाचन और नियमितता | Improve digestion and regularity

जैसा कि पहले ही उल्लेख किया गया है कि तरबूज में पानी की मात्रा अधिक होती है और यह कुछ फाइबर भी प्रदान करता है. ये पोषक तत्व कब्ज को रोकने और मल त्याग की नियमितता को बढ़ावा देकर आँतों को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं.

4. हाइड्रेशन प्रतिशत | watermelon increase hydration percentage

यह 90% पानी के साथ ही साथ पोटेशियम जैसे इलेक्ट्रोलाइट्स भी प्रदान करता है जो गर्मी के महीनों के दौरान नाश्ते का एक स्वस्थ विकल्प हो सकता है. इसके नियमित सेवन से डीहाइड्रेशन से बचा जा सकता है.

5. एंटी कैंसर पर शोध जारी | Anti-Cancer property

कुछ कैंसर आधारित शोध से पता चला है कि मुक्त कण [Free Redical] कुछ प्रकार के कैंसर के विकास में भूमिका निभा सकते हैं. उनके कारण होने वाले ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस के परिणामस्वरूप DNA कोशिका क्षतिग्रस्त हो सकती है.

Watermelon में निहित आहार एंटीऑक्सिडेंट [Dietry antioxident], जैसे विटामिन सी, मुक्त कणों से लड़कर कैंसर को रोकने में कारगर साबित हुए हैं.

कुछ अध्ययनों ने लाइकोपीन के सेवन को प्रोस्टेट कैंसर के कम जोखिम से भी जोड़ा है

6. मांसपेशियों में दर्द | Muscle soreness

मांसपेशियों में दर्द को कम करने के लिए तरबूज और तरबूज का रस का सेवन एथलीटों को व्यायाम के बाद करने की सलाह दी जाती है.

2017 में हाफ मैराथन दौड़ने वाले एथलीटों पर एक अध्ययन किया गया जिसमे दौड़ शुरू होने से 2 घंटे पहले आधा लीटर प्लेसबो और watermelon के रस को L-citrulline के साथ पीने को दिया गया.

जिन एथलीटों ने तरबूज के पेय का सेवन किया, उन्होंने दौड़ के 24-72 घंटे बाद मांसपेशियों में दर्द कम होने की सूचना दी.

यहाँ यह स्पष्ट नहीं था कि बिना L-citrulline के watermelon के रस का सेवन करने से समान प्रभाव पड़ेगा या नहीं.

7. मस्तिष्क और तंत्रिका तंत्र का स्वास्थ्य | Watermelon for brain and nervous system

कोलाइन एक और एंटीऑक्सीडेंट है जो तरबूज में पाया जाता है. यह मांसपेशियों की गति, प्रारंभिक मस्तिष्क विकास, कोशिका झिल्ली की संरचना को बनाए रखना, तंत्रिका आवेगों का संचरण आदि कार्यों और गतिविधियों में योगदान देता है.

एक सिद्धांत यह भी बताता है कि कोलीन अल्जाइमर रोग में Dementia की प्रगति को धीमा करने में मदद कर सकता है, लेकिन इसकी पुष्टि करने के लिए इस ओर पर्याप्त शोध नहीं हुए हैं.

8. मूत्रवर्धक गुण | Diuretic properties

कुछ लोग शरीर से अतिरिक्त पानी और नमक को निकालने के लिए मूत्रवर्धक दवाओं का उपयोग करते हैं. ऐसे में Watermelon किडनी की समस्या, उच्च रक्तचाप और अन्य स्थितियों वाले लोगों के लिए उपयोगी हो सकता है.

2014 में माउस पर हुए अध्ययन से निष्कर्ष निकाला जा सकता है कि तरबूज की मूत्रवर्धक क्रिया फ़्यूरोसेमाइड [Furosemide] की तरह प्रभावी हो सकती है, जो एक प्रसिद्ध मूत्रवर्धक है.

watermelon

पोषण | Nutrition

नीचे दी गई तालिका एक कप तरबूज [लगभग 150 ग्राम] के आधार पर दी गई है:

  • ऊर्जा (कैलोरी)- 46.2
  • कार्बोहाइड्रेट (gm)- 11.6, 9.6 ग्राम चीनी सहित
  • फाइबर (gm)- 0.6
  • कैल्शियम (mg)- 10.8
  • विटामिन सी (mg)- 12.5
  • विटामिन ए, RAE (mcg)- 43.1
  • बीटा कैरोटीन (mcg)- 467

इसके अलावा तरबूज में शामिल हैं:

  • विटामिन बी, जैसे थायमिन, नियासिन और राइबोफ्लेविन
  • जिंक, मैंगनीज, सेलेनियम, फ्लोराइड और अन्य आवश्यक खनिज
  • ट्रिप्टोफैन, ल्यूसीन, लाइसिन, आर्जिनिन तथा अन्य एंटीऑक्सीडेंट

तरबूज सेवन के संभावित जोखिम | Possible Risks to consume Watermelon

तरबूज की सीमित मात्रा का सेवन साधारणतया कोई गंभीर स्वास्थ्य जोखिम नहीं होता है, लेकिन कुछ विशेष को ध्यान रखने की आवश्यकता हो सकती है जैसे:

मधुमेह: तरबूज में प्राकृतिक रूप से चीनी की मात्रा पाई जाती है. मधुमेह वाले लोगों को अपने दैनिक भोजन योजना में इन कार्ब्स को अवश्य शामिल करना चाहिए।

ध्यान देने योग्य बात यह है कि तरबूज का रस के बजाय साबुत सेवन करना बेहतर होता है, क्योंकि इसका जूस फाइबर को हटा देता है, जिससे शरीर के लिए चीनी को अवशोषित करना आसान हो जाता है. इससे ग्लूकोज स्पाइक का खतरा बढ़ सकता है.

एलर्जी: तरबूज खाने के बाद कुछ लोगों में एलर्जी की प्रतिक्रिया के लक्षण विकसित हो सकते हैं, जैसे पित्ती, सूजन और सांस लेने में कठिनाई. यदि ऐसा हो तो चिकित्सकीय सलाह को ध्यान देने की आवश्यकता होती है, क्योंकि इससे कभी-कभी तीव्रग्राहिता [anaphylaxis] हो सकती है, जो एक life-threatening  वाली स्थिति होती है.

More Readings