• thephytologist@gmail.com
  • India
Ethnomedicine
Tuber Mushroom: The Most demanding Veg of Bastar

Tuber Mushroom: The Most demanding Veg of Bastar

साल वृक्ष के नीचे मिट्टी में पाया जाने वाला मशरूम को बस्तर [छत्तीसगढ़] के स्थानीय बोली में बोड़ा [Tuber Mushroom] के नाम से जाना जाता है. दरअसल यह एक कवक होता है जिसका सम्बन्ध राइजोपोगान कुल से है.

छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग साल वनों से घिरा है इसलिए बस्तर को साल वृक्षों का द्वीप के नाम से भी जाना जाता है. यह क्षेत्र जैव विविधता से भरा है और अक्सर अपने कला, सांस्कृतिक, पारम्परिक मान्यताओं के वजह से वैज्ञानिक तथा बुद्धिजीवियों को हैरान व आकर्षित करता है.

इसी कड़ी में यहाँ पाए जाने वाले बोड़ा का उल्लेख किया जाना नितांत आवश्यक है.

वैज्ञानिक आधार | Scientific view of Tuber Mushroom

रिसर्च के आधार पर पाया गया कि राइजोपोगान प्रजाति प्राथमिक रूप से एक्टोमॉयकोराइजल कवक के साथ पाइन प्रजाति और साल वृक्षों के जड़ क्षेत्र में पाए जाते है.

मानसून की पहली बारिश के साथ इनका विकास मृदा में होता है इस समय 32-38 डी.से. वातावरणीय तापमान का होना आवश्यक है.

इन्ही दिनों में यह तापमान बहुत कम समय के लिए होता है. साल के जड़ क्षेत्र में मृदा में इस कवक के लिए उचित वातावरणीय स्थिति निर्मित होती है जिसके कारण Tuber mushroom उत्पादित होता है.

बाद के दिनों में लगातार बारिश के कारण तापमान तेजी से नीचे गिरता है और राइजोपोगान कवक का विकास रुक जाता है. यही एक मात्र कारण है जिसके वजह से बोड़ा की उपलब्धता बहुत कम समय के लिए होता है.

बोड़ा

बोड़ा का किस्म | Types of Tuber Mushroom

वैसे तो राइजोपोगान प्रजाति में 30 से ज्यादा किस्मे अब तक ज्ञात है किन्तु इस क्षेत्र में दो किस्में पाई जाती है जिसके कारण यह काले और सफ़ेद रंग का दिखाई देता है.

पोषकता मान | Nutrient Value of Tuber Mushroom

बोड़ा में लगभग 72% तक पानी होती है.  इसमें वसा की मात्रा बहुत कम लगभग 0.6% तक पाई जाती है. वही प्रोटीन की अनुमानित मान 8.6% तक पाई गई है. 

इसके अलावा बोड़ा में मेथिओनिन, सिस्टीन और लाइसिन के साथ-साथ फॉस्फोरस, कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटेशियम, सोडियम, लोहा, जस्ता, फाइबर, सल्फर, क्लोरीन और सिलिकॉन जैसे खनिजों तत्व भी प्रचुर मात्र में होती है.

औषधीय महत्त्व | Medicinal importance of Tuber mushroom

Tuber Mushroom के स्वाद, सुगन्ध, उपलब्धता की वजह से इसकी पहचान अन्य सब्जियों से अलग हैं. बोड़ा एक मौसमीय सब्जी है इसलिए भोजन में इसका योगदान थोड़ा कम होता है. बावजूद इसके यह पौष्टिक तत्वों से भरपुर होता है और औषधीय महत्त्व भी रखता है.

एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर बोड़ा | Antioxidant property

एंटीऑक्सीडेंट गुण [Antioxidant property] से भरपूर होता है बोड़ा. रिसर्च में पाया गया है एंटीऑक्सीडेंट गुण के कारण यह रोगों से लड़ने में भी मदद करता है, रोग प्रतिरोधकता को बढाता है.

मधुमेह रोधी | Anti-Diabetic property

मधुमेह रोगियों के लिए यह बहुत लाभकारी है, शुगर की आपेक्षिक मात्रा कम होने के कारण इसे मधुमेह रोगी अपने डाइट में शामिल कर सकते है.

उदर विकार में बोड़ा के लाभ | Resolve Stomach Problem

सुपाच्य रेशे [Diatry Fibers] की पर्याप्त मात्रा पाई जाती है इसलिए यह आसानी से पच जाता है साथ ही पाचन संबंधित विकार को भी ठीक करने की क्षमता बोड़ा में पाई जाती है.

उच्च रक्तचाप की दवा है बोड़ा | Good for High Blood Pressure

स्थानीय पारंपरिक चिकित्सक  [Traditional Healers] के द्वारा बोड़ा का उपयोग हाई ब्लड प्रेशर की दवाई बनाने के लिए किया जाता रहा है. इससे अनुमान लगया जा सकता है कि यह हाई ब्लड प्रेशर में लाभदायक है.

कुपोषण का इलाज | Treat Malnutrition by Tuber Mushroom

कुपोषण के शिकार बच्चों के लिए यह सुपर फ़ूड है. बोड़ा की सब्जी व इसे उबाल कर सेवन करने से पोषक तत्वों की तुरंत उपलब्धता होती है क्योंकि इसमें प्रोटीन प्रचुर मात्रा में पाई जाती है.

आय का अच्छा स्रोत | Zero Input High Income

शुरूआती दिनों में बोड़ा [Tuber mushroom] का दाम प्रतिकिलो रु. 2000 से भी अधिक होती है. इतने महंगे होने के बावजूद लोगो में इसको खाने का जूनून देखते ही बनता है. कही-कही यह 3000 रु. तक भी बिक्री होते देखा गया है.

बस्तर संभाग के अलग-अलग क्षेत्रों में इसके दाम अलग-अलग होते है. बाजार में इसके आवक बढ़ने के साथ ही दाम भी कम होने लगते है.

क्षेत्र के स्थानीय निवासियों [Tribal Peoples] के लिए यह एक अच्छा आय का साधन है किन्तु बोड़ा मौसमी सब्जी [Seasonal Veg] होने के कारण एक निश्चित समय के लिए ही आय [Income] प्राप्त हो पाता है.

निष्कर्ष | Conclusion

कई पोषक तत्व व खनिज से भरपूर होने के साथ ही बोड़ा में औषधीय महत्व भी पाया गया है. यह साल वनों में पाया जाने वाला अद्भुत चीज है. भारत के अन्य क्षेत्रो में भी पाया जाता है जहाँ साल वन पाए जाते है. मौसमी सब्जी होने के कारण एक निश्चित समयावधि के लिए ही उपलब्ध हो पाता है. स्थानीय लोगो के लिए एक अच्छा आय का साधन है.

इस क्षेत्र में और अधिकअनुसन्धान की आवश्यकता है विशेष रूप से बस्तर के बोड़ा के विषय में क्योंकि यह क्षेत्र जैव विविधता से भरा है अवश्य ही कुछ नयी जानकारी एवं संभावनाएं निकल कर आएगी.

यह रोचक लेख भी पढ़े | Further Reading

1 thought on “Tuber Mushroom: The Most demanding Veg of Bastar

Comments are closed.