Home
Bamboo Shoots: Healthy as well as Nutritious

Bamboo Shoots: Healthy as well as Nutritious

Bamboo shoots [बांस की कोमल अंकुर] कई एशियाई व्यंजनों में एक आम सामग्री है. बाजारों में ताज़े, उबले हुए या पूर्णतया सूखे सामग्री के रूप में उपलब्ध है.यह न सिर्फ अपनी विशिष्ट सुगंध के लिए बल्कि स्वाद के लिए भी जाना जाता है.

इतनी लोकप्रियता के बावजूद यदि आप इसके सेवन को लेकर संदेह की स्थिति में हैं तो यह लेख निश्चित ही आपको एक नया नजरिया देने में सक्षम होगा. साथ ही यह निर्धारित करने में मदद करेगा कि Bamboo shoots स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है या हानिकारक

वैश्विक परिदृश्य | Global view of Bamboo

भारत में बांस की 125 से अधिक प्रजातियां ज्ञात हैं. वनों और निजी भूमि में 11.36 मिलियन हेक्टेयर (हेक्टेयर) से अधिक में Bamboo की खेती की जाती है. सालाना लगभग 13.50 मिलियन टन बांस का उत्पादन होता है.

ग्रामीण क्षेत्रों में बांस आधारित संसाधनों एवं इनके मूल्यवर्धन से रोजगार सृजित की जा सकती है. इस क्षेत्र में आर्थिक गतिविधियां बढ़ने से नई संभावनाएं प्रकाश में आ रही हैं.

बाँस के कोमल अंकुर को छत्तीसगढ़ एवं बस्तर के स्थानीय बोली में करील व बास्ता के नाम से जाना जाता है. करील, बाँस के पौधों के खाने योग्य अंकुर होते हैं जिनका जिक्र कई प्रकार के एशियाई व्यंजनों में मिलता है.

अब तक दुनिया भर में बांस की लगभग 1,500 प्रजातियां की खोज की जा चुकी हैं. कुछ प्रजातियां जैसे Bambusa vulgaris और Phyllostachys edulis  खाना पकाने में उपयोग किए जाने वाले सबसे आम प्रकारों में से हैं.

एशियाई बाजारों में Bomboo Shoots सूखे, ताजा, या डिब्बाबंद सहित कई रूपों उपलब्ध होता है. किसी भी प्रकार के व्यंजनों में उपयोग करने से पहले अच्छी तरह उबाला जाता है.

अन्य सब्जियों की तरह ही Bamboo Shoots में भी पोषक तत्व मौजूद है. इसमें जिंक की प्रचुरता होती है, जो कि त्वचा और मस्तिष्क के स्वास्थ्य तथा कार्यात्मक क्षमता के लिए महत्वपूर्ण खनिज मानी जाती है.

विटामिन बी-6 Bamboo shoot में प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, यहाँ यह बताना लाज़मी है कि विटामिन बी-6 पानी में घुलनशील विटामिनों में एक है जो मानव कोशिकाओं के भीतर 140 से अधिक जैव रासायनिक प्रतिक्रियाओं में शामिल होती है.

इसके अलावा, करील का सेवन शरीर को विटामिन ई की उपलब्धता बढ़ा देता है, जो एक शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट के रूप में कार्य करता है साथ ही सूजन और पुरानी बीमारी से बचाने में सक्षम होती है.

Health Benefits of Bamboo Shoots

कोलेस्ट्रॉल स्तर को कम करे | Bamboo Shoots reduces cholesterol levels

कुछ अध्ययनों से पता चला है कि करील [Bamboo shoots] हृदय स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए कोलेस्ट्रॉल के स्तर को प्रभावी ढंग से कम करने में मदद करती हैं.

स्वस्थ महिलाओं पर 2009 में हुए एक छोटे से शोध में पाया गया कि 360 ग्राम bamboo शूट का सेवन लगातार 6 दिनों तक करने से नियंत्रित आहार का पालन करने वालों की तुलना में कुल और एलडीएल कोलेस्ट्रॉल [Total & Bad Cholestrol] के स्तर में काफी कमी आई.

मशरुम की तरह ही इसमें भी घुलनशील फाइबर पाया जाता है. घुलनशील फाइबर आंत में पानी को अवशोषित करता है और इसे कोलेस्ट्रॉल के स्तर में कमी के लिए जिम्मेदार माना गया है.

आंत के स्वास्थ्य में सुधार | Gut become healthy due to Bamboo Shoots

फाइबर Motion में सुधार करता है और साथ ही Haemorrhoids, Diverticulitis, Colorectal cancer जैसे गंभीर स्वास्थ्य मुद्दों से भी रक्षा करता है.

शोध के आधार पर ज्ञात हुआ है कि आंत माइक्रोबायोम स्वास्थ्य और रोगों में केंद्रीय भूमिका निभाता है. इसके अलावा हृदय रोग, कैंसर, टाइप 2 मधुमेह, अवसाद और मोटापे जैसी स्थितियों को रोकने में मदद कर सकता है.

Bamboo shoots

वजन घटाने में सहायक | It support to weight loss

वजन प्रबंधन में Bamboo Shoots को शामिल करना लाभदायक साबित हो सकता है क्योंकि इसमें कैलोरी की मात्रा कम तथा फाइबर की मात्रा अधिक होती है. इसके सेवन से भूख में नियंत्रण किया जा सकता है.

चूहों पर किये गए एक अध्ययन में पाया गया कि उच्च वसा वाले आहार के स्थान पर bamboo shoots फाइबर खिलाने से आंत माइक्रोबायोम के स्वास्थ्य में वृद्धि हुई और वजन को प्रभावी ढंग से नियंत्रित किया जा सका.

हांलाकि इसकी पुष्टि के लिए अभी इस ओर और अधिक शोध की आवश्यकता है.

हृदय की देखभाल | It’s good for Heart care

हृदय रोग विशेषज्ञ रोजाना Bamboo Shoot खाने की सलाह देते हैं क्योंकि यह विभिन्न हृदय रोगों से सुरक्षा करता है. फाइटोस्टेरॉल और फाइटोन्यूट्रिएंट्स से भरपूर, उबले हुए तथा किण्वित रूपों में सेवन किया जा सकता है.

यह बंद धमनियों को साफ करने में मदद करता हैं साथ ही एलडीएल कोलेस्ट्रॉल [Bad Cholestrol] को घुलनशील अवस्था में लाने में मदद करता है.

दुष्प्रभाव | Side effects

बाँस की ताज़ी अंकुर में साइनाइड टैक्सीफिलिन [Cyanide taxiphyllin] की जहरीली मात्रा होती है. हालांकि, विभिन्न प्रसंस्करण विधियां इनकी विषाक्तता बहुत कम कर देती हैं, जिससे वे आम तौर पर खाने के लिए सुरक्षित हो जाते हैं.

इसे खाने से पहले या सुनिश्चित जरुर कर ले कि Bomboo Shoots अच्छी तरह उबाला गया हो, या रातभर पानी में रखा गया हो या यह पूरी तरह सूखी अवस्था में हो.

बांस के अंकुर को Goitrogenic भी माना जाता है, जिसका अर्थ है कि यह थायरॉयड ग्रंथि के कार्य को प्रभावित कर सकता हैं.

बांस पेड़ है या घास? | Bamboo are tree or grass?

वैज्ञानिक रूप से कहा जाए तो बांस कोई पेड़ नहीं बल्कि घास है. हालाँकि, भारतीय वन अधिनियम,1927  ने इसे एक वृक्ष माना. तदनुसार, जंगलों से बांस को काटना और उसका परिवहन करना गैरकानूनी बना दिया गया था.

लोकसभा ने आखिरकार 90 साल पुराने कानून में संशोधन किया और बांस को घास के रूप में वर्गीकृत किया.

भारतीय वन अधिनियम, 1927  में संशोधन के बाद बांस को वृक्ष की श्रेणी से हटा दिया गया है, अब बांस None wood forest product की श्रेणी में है. अब जंगलों के बाहर भी बांस के पेड़ उगाने या काटने पर कोई रोक नहीं होगी.

Further readings

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *