Home
Papaya makes you healthy and regulates the stomach

Papaya makes you healthy and regulates the stomach

Papaya [पपीता] मूलत: मैक्सिको का पौधा है. हालांकि, यह अब विश्वभर में स्वाभाविक रूप से पाया जाता है.

खाद्य और कृषि संगठन [FAO] 2013 के एक रिपोर्ट के अनुसार, भारत सर्वाधिक पपीता उत्पादक देश है, जहाँ प्रतिवर्ष 5 मिलियन टन से भी अधिक पपीते का उत्पादन करता है.

स्वाद व पोषक तत्वों से भरपूर Papaya को सलाद, स्मूदी और अन्य व्यंजनों के रूप में भोजन में शामिल किया जा सकता है.

पपीता का वनस्पतिक नाम Carica papaya है, जो कि Caricaceae परिवार से पौधा है. अब तक पपीता की 22 प्रजातियों की पहचान की जा चुकी है.

क्रिस्टोफर कोलंबस [Christopher Columbus] ने सर्वप्रथम इस फल को “the fruit of the angels” अर्थात् स्वर्गदूतों का फल से संबोधित किया था.

पपीता के स्वास्थ्य लाभ | Health benefits of papaya

1. पाचन सुधारे | Papaya Improve Digestion

पपीते में Papain नामक एक एंजाइम पाया जाता है जो पाचनक्रिया में सहायता करता है. साथ ही साथ इसमें फाइबर और पानी की मात्रा भी अधिक होती है, जो न सिर्फ कब्ज को रोकने और नियमितता बल्कि स्वस्थ पाचन तंत्र को बढ़ावा देने में मदद करते हैं.

2. एंटीकैंसर गुण | Anticancer Properties

शोध बताते हैं कि पपीते में मौजूद लाइकोपीन [Lycopene] नामक तत्व कैंसर के खतरे को कम कर सकता है. यह उन लोगों के लिए भी फायदेमंद हो सकता है जिनका कैंसर का इलाज किया जा रहा है.

3. अस्थमा की रोकथाम | Help to Prevent Asthma

जो लोग बीटा-कैरोटीन का उचित और नियमित सेवन करते है उनमें अस्थमा विकसित होने का जोखिम कम होता है. पपीता में बीटा-कैरोटीन  की प्रचुर मात्रा होती है.

papaya
Image by Vijaya narasimha from Pixabay

4. क्लींजिंग | Papaya use for effective cleansing

अक्सर सौंदर्य विशेषज्ञ पपीते स्लाइस को एक प्राकृतिक त्वचा क्लीन्ज़र के रूप में उपयोग करने का सुझाव देते हैं क्योंकि इसमें निहित सक्रिय एंजाइम अशुद्धियों को प्रभावी रूप से हटाने में सहायक होते है.

5. मजबूत हड्डियों के लिए | Good for bone health

शरीर में Vitamin K की कम उपलब्धता हड्डियों के फ्रैक्चर के जोखिम को बढ़ा देती है. अच्छे स्वास्थ्य के लिए पर्याप्त विटामिन K का सेवन महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह कैल्शियम के अवशोषण में सुधार करता है.

हड्डियों को मजबूत और पुनर्निर्माण करने के लिए शरीर में अधिक कैल्शियम की आवश्यकता होती है, जिसे पपीता में मौजूद Vitamin K के मदद से कैल्शियम के अवशोषण को बढ़ाया जा सकता है.

6. हृदय संबधित रोग का उपचार | It Controls heart disease

Carica papaya में मौजूद फाइबर, पोटैशियम और विटामिन की मात्रा दिल की बीमारी को दूर करने में मदद करती है. हृदय संबधित रोग के लिए आहार परिवर्तन सबसे महत्वपूर्ण है, जिसमें सोडियम सेवन में कमी के साथ पोटेशियम के सेवन में वृद्धि करना, हृदय रोग के जोखिमों को कम कर सकता है.

7. इम्यून सिस्टम को बूस्ट करता है | Boosts Immune System

विटामिन सी के एक उत्कृष्ट स्रोत होता है पपीता, इसे खाने से प्रतिरक्षा प्रणाली [Immune System] मजबूत हो सकता है और यह हमारे शरीर को कई तरह की बीमारियों और संक्रमणों से बचा सकता है.

8. आंखों के लिए फायदेमंद | It Help Protect the Eyes

विटामिन सी, विटामिन ई, जियाजेंथिन [Zeaxanthin] और ल्यूटिन [Lutein] जैसे पोषक तत्वों  की अच्छी मात्रा होती है पपीते में, जो आंखों की रक्षा कर सकते हैं.

साथ ही उम्र के साथ-साथ होने वाले नेत्र रोगों को रोकने में मदद करते हैं. जियाजेंथिन और ल्यूटिन यह दो एंटीऑक्सिडेंट हैं जो आँखों के स्वास्थ्य के लिए उपयोग किए जाते हैं.

9. मधुमेह रोगियों के लिए अच्छा आहार | Good for diabetics

मधुमेह रोगियों के लिए पपीता एक उत्कृष्ट भोजन विकल्प है, क्योंकि इसमें मीठापन होने के बावजूद चीनी की मात्रा कम होती है.

इसके अलावा, जिन लोगों को मधुमेह नहीं है, वे भी इसे रोकने के लिए पपीता का सेवन कर सकते हैं.

10. उम्र बढ़ने के संकेतों को रोकता है | Use as antiaging

सभी मनुष्य हमेशा जवान बने रहना पसंद करते है, किन्तु प्रकृति में ऐसा संभव नही है. फिर भी, उचित तरीकों से पपीता को भोजन में शामिल करना उम्र ढलने की प्रक्रिया को लम्बा कर सकती है.

जैसे की पहले ही बताया गया है Papaya विटामिन सी, विटामिन ई और एंटीऑक्सिडेंट जैसे बीटा-कैरोटीन से भरपूर होता है, जो त्वचा को झुर्रियों और उम्र बढ़ने के अन्य संकेतों को रोकने में मदद करता है.

Image by Beverly Buckley from Pixabay

पपीता कैसे खाएं | How to eat papaya

अनोखा स्वाद के लिए जाना जाता है पपीता, जिसे बहुतायत लोगों के द्वारा पसंद किया जाता है. एक अधपके या अधिक पके पपीते, दोनों का स्वाद पूरी तरह से अलग-अलग होता है.

जब यह पूरी तरह से पका हुआ होता है, तब इसके ऊपरी त्वचा पीले से नारंगी-लाल रंग का दिखाई देता है. यद्यपि कुछ हरे धब्बे भी हो सकते है. बाहरी त्वचा को हलके हाथों से दबाव देकर भी Papaya के परिपक्वता का अनुमान लगया जा सकता है. ठंडा होने पर इसका स्वाद सबसे अच्छा होता है, इसलिए संभव हो तो इसे फ्रिज में रखे.

यहाँ निम्न तरीकों से सेवन किया जा सकता है:

नाश्ता: एक बाउल को आधा काटें हुए Papaya तथा आधा दही के साथ भरें, फिर कुछ ब्लूबेरी और कटी हुई ड्राईफ्रूट्स डाल कर परोसे.

ऐपेटाइज़र: इसे स्ट्रिप्स के आकार में काटें और प्रत्येक स्ट्रिप के चारों ओर से हैम या prosciutto से लपेटें.

सालसा: कटी हुई पपीता, टमाटर, प्याज और सीताफल को अच्छी तरह मिलाएँ और फिर नींबू का रस डालें.

स्मूदी: एक ब्लेंडर में पका हुआ पपीता, कोकोनट मिल्क और बर्फ को मिलाएं,  इस मिश्रण को चिकना होने तक ब्लेंड करें.

सलाद: कटी हुई पपीता और एवोकैडो को एक क्यूब में रखकर, इसमें अच्छे से पकाया गया चिकन को रखे. ऊपर से ओलिव आयल और सिरका डालें.

मिठाई: कटे हुए पपीता में दो बड़े चम्मच चिया सीड्स, एक कप बादाम दूध और एक चौथाई  चम्मच वेनिला डाल कर अच्छे से मिलाएं, ठंडा करके परोसे.

दुष्प्रभाव | Side effect

स्वास्थ्यवर्धक होने के बावजूद papaya कुछ लोगों में कुछ साइड इफ़ेक्ट कर सकता है जैसे:

इस तथ्य के प्रति सचेत रहें कि अपरिपक्व पपीते में अधिक मात्रा में लेटेक्स होता है तथा फल पकते ही यह मात्रा घट जाती है.

यह महत्वपूर्ण है कि गर्भवती होने पर पपीते खाने से बचें, क्योंकि इसमें मौजूद लेटेक्स गर्भाशय के संकुचन और समय से पहले प्रसूति पीड़ा का कारण बन सकता है.

यदि आपको Papaya latex से एलर्जी का पता चला है, तो संभवतः पपीते से भी एलर्जी हो सकती है. एक लेटेक्स एलर्जी के लक्षण में पित्ती, खुजली, नजला-जुकाम, घरघराहट और सीने में जकड़न आदि शामिल हैं.

लेटेक्स एलर्जी के एक गंभीर मामले में, पपीता खाने से एनाफिलेक्सिस [anaphylaxis] या गंभीर साँस लेने में कठिनाई [Breathing difficulty] हो सकती है.

चूँकि पपीता फाइबर का एक स्रोत है और पाचन स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा माना जाता है, बहुत अधिक खाने से एक laxative effect हो सकता है, फलस्वरूप दस्त और पेट खराब हो सकता है.

यदि पपीता खाने के बाद पेट की समस्या उत्पन्न होती है, तो चिकित्सक से परामर्श करें, और लक्षणानुसार उपचार ले. इसके अलावा, शोध के अनुसार, पपीते के बीज एक शुक्राणुनाशक के रूप में कार्य कर सकते हैं साथ ही शुक्राणु की गतिशीलता को प्रभावी रूप से कम कर सकते हैं. इसलिए, पुरुषों को पपीते के बीजों को खाने से बचना चाहिए.

Related articles

Chia seeds: A good source of veg Omega-3 Fatty acids
7 Health Benefits of Bathua and Their Side Effect
Omega-3 Fatty Acid: Types, Sources, Functions and Importance
Phytochemicals and Human Health
Health benefits of Dragon fruit in hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

CommentLuv badge